आजादी के अमृत महोत्सव पर भारत के ऊंचे 75 दर्रों पर तिरंगा फहराया जायेगा

0
17
आजादी का अमृत महोत्सव
आजादी का अमृत महोत्सव

नई दिल्ली। सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ समारोह की शुरुआत कर दी है। बीआरओ देशभर में कल्याणकारी और देशभक्ति से सम्बंधित गतिविधियों, कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है।

इसके तहत 75 चिकित्सा शिविर लगाये जा रहे हैं, 75 स्थानों पर पौधारोपण अभियान चलाया जा रहा है और बातचीत तथा व्याख्यान के जरिये बच्चों को प्रेरित करने के लिए 75 स्कूल संवाद किये जा रहे हैं। मुख्य कार्यक्रम स्वतंत्रता दिवस को होगा, जब भारत के सबसे ऊंचे 75 दर्रों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जायेगा।

बीआरओ ने सात अगस्त 2021 को उत्तराखंड के पीपलकोट और पिथौड़ागढ़ तथा सिक्किम के चांदमारी में वीरता पुरस्कार प्राप्त और युद्ध के महानायकों का सम्मान किया। पिथौरागढ़ में बीआरओ की ओर से आयोजित ‘परियोजना हीरक’ समारोह में शौर्य चक्र विजेताओं ईईएम प्रेम सिंह, नायक चंद्र सिंह, चालक राम सिंह और डीएमई दमर बहादुर के निकटस्थ परिजनों को प्रशस्ति चिह्न भेंट किये गए।

पीपलकोट में अलग से आयोजित एक समारोह में बीआरओ के ‘परियोजना शिवालिक’ के तहत कीर्ति चक्र विजेता मेजर प्रीतम सिंह कुंवर, शौर्य चक्र विजेता (मरणोपरान्त), लांस नायक रघुबीर सिंह और शौर्य चक्र विजेता नायब, सूबेदार सुरेन्द्र सिंह के परिजनों को सम्मानित किया गया।

सिक्किम के चांदमारी में बीआरओ की परियोजना स्वस्तिक की ओर से आयोजित एक सम्मान समारोह में सिक्किम के वन एवं पर्यावरण मंत्री कर्मा लोडे भूटिया भी शामिल हुए। उन्होंने सिक्किम के तीन शौर्य चक्र विजेताओं सूबेदार मानद कप्तान किशोर राय, नायक धन बहादुर छेत्री और पैरा ट्रूपर सोनम शेरिंग तमांग को सम्मानित किया।

ऑनलाइन वीरता पुरस्कार पोर्टल पर खुद को पंजीकृत करवाने वाले राज्य के स्थानीय लोगों को भी सम्मानित किया गया। सभी कार्यक्रमों में राज्य की प्रमुख हस्तियां मौजूद थीं। कार्यक्रम में प्रेरणास्पद संवाद और युद्ध महानायकों की वीर गाथाएं भी पेश की गईं।