बिहार की राजधानी कहां है? Capital of Bihar in Hindi

वर्तमान में बिहार की राजधानी (Capital of Bihar) का नाम पटना है। पटना को पहले पाटलिपुत्र के नाम से भी जाना जाता था। इसके अलावा भी पटना के कई नाम प्रचलित थे।

0
85
Capital of Bihar
Capital of Bihar

Capital of Bihar in Hindi: जब भी हम बिहार की बात करते हैं तो मन में हमेशा एक ऐसे राज्य की तस्वीर सामने आती है जिनका इतिहास गौरवपूर्ण रहा है। प्राचीन समय में बिहार मगध के नाम से जाना जाता था। वर्तमान में बिहार की राजधानी (Capital of Bihar) का नाम पटना है। पटना को पहले पाटलिपुत्र के नाम से भी जाना जाता था। इसके अलावा भी पटना के कई नाम प्रचलित थे।

बिहार का पटना जिला जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला है। बिहार की राजधानी (Capital of Bihar) होने के चलते पटना में बिहार के विभिन्न प्रदेशों से लोग पढ़ाई तथा अपने रोजी रोजगार के लिए पटना आते रहते हैं। बिहार की राजनीतिक केंद्र होने के चलते पटना का महत्व सबसे अधिक हो जाता है।

बिहार की राजधानी (Capital of Bihar) पटना एक राजनीतिक केंद्र होने के साथ-साथ कई दर्शनीय स्थलों से भी भरे पड़े हैं। पटना का गोलघर प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल है। बिहार के बारे में जब भी जिक्र होता है तो गोलघर का जिक्र अवश्य होता है। पटना के गांधी मैदान के पश्चिम में स्थित गोलघर बिहार की एक पहचान है।

इसके अलावा पटना जंक्शन के पास स्थित बुद्ध स्तूप भी एक दर्शनीय स्थल है। पटना का हनुमान मंदिर एक प्रसिद्ध मंदिर है। यहां पर हर रोज लाखों की संख्या में भक्त पूजा करने आते हैं। पटना के महावीर मंदिर के नाम से प्रसिद्ध यह हनुमान मंदिर धार्मिक कार्यों के साथ-साथ कई प्रकार के सामाजिक कार्यों में भी योगदान देता है। पटना का महावीर वात्सल्य हॉस्पिटल और महावीर कैंसर संस्थान जैसे बड़ी अस्पतालों को महावीर मंदिर में मिलने वाले दान से चलाए जाते हैं।

बिहार को अनंत ऋषि-मुनियों का जन्म स्थल और कर्म स्थल माना जाता है। बिहार में अनेक प्रकार के महामानव उत्पन्न हुए हैं और आधुनिक भारत में कई प्रसिद्ध और महान व्यक्ति बिहार से संबंध जरूर रखते हैं। भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद भी बिहार के ही रहने वाले थे। इसके अलावा राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर बिहार के ही थे।

बिहार का महत्व इस बात से भी झलकता है कि महात्मा गांधी ने अपना पहला सत्याग्रह बिहार के चंपारण से ही किया था। इसे चंपारण सत्याग्रह के नाम से जाना जाता है। देश की आजादी में बिहार के सपूतों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री डॉ राजेंद्र प्रसाद भी बिहार के ही रहने वाले थे।