4 चरणों में होंगे यूपी पंचायत चुनाव, राज्य निर्वाचन आयोग ने जारी किया दिशा-निर्देश

0
211
यूपी पंचायत चुनाव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव 4 चरणों में होगा। प्रत्येक मंडल में एक चरण में एक ही जिले में चुनाव कराया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को इस संबंध में निशा निर्देश जारी कर दिए हैं।

आयोग का स्पष्ट निर्देश है कि यदि किसी मंडल में जिलों की संख्या चार से अधिक है तो वहां पर किसी एक चरण में दो जिलों में एक साथ चुनाव कराया जाएगा। इस बार पोलिंग पार्टी में पीठासीन अधिकारी के अतिरिक्त 3 मतदान कर्मी की भी नियुक्ति होगी।

चुनाव आयोग ने स्पष्ट किया है कि जिले के सभी विकास खंडों में एक साथ चुनाव कराने से मतदान दलों के लिए कर्मचारियों-अधिकारियों की आवश्यकता को मंडल के दूसरे जिले से पूरा किया जाएगा। एक मंडल के जिलों में कर्मचारियों को एक से दूसरे जिले में उपलब्ध कराने का निर्णय मंडलायुक्त करेंगे।

मतपेटी में डाले जाएंगे सभी मतपत्र

पंचायत चुनाव में इस बार प्रत्येक मतदान स्थल पर तीन की जगह दो मतपेटी रखी जाएगी। चुनाव चिन्ह आवंटन के बाद यदि उम्मीदवारों की संख्या अधिक होती है तो संबंधित मतदान स्थल पर 3 मतपेटियां रखी जा सकती हैं।

एक ही मतपेटी में जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य के मतपत्रों को डाला जाएगा। पहली मतपेटी भरने के बाद दूसरी मतपेटी का इस्तेमाल किया जाएगा। यदि तीसरी मतपेटी की आवश्यकता पड़ती है तो पीठासीन अधिकारी संबंधित सेक्टर मजिस्ट्रेट को सूचित करेंगे।

मतदान दल पर रखा जाएगा वरिष्ठता का ध्यान

निर्वाचन आयोग ने इस बार मतदान दलों में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने में वरिष्ठता का ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं। पीठासीन अधिकारी एवं मतदान अधिकारी को उनके ग्रेड-पे के आधार नियुक्त किया जाएगा। किसी भी अधिकारी को उनसे निम्न पद के कार्मिक के अधीन ड्यूटी पर नहीं लगाया जाएगा।