Shukrawar ke Upay: शुक्रवार को पूजा कैसे करना चाहिए?

0
235
शुक्रवार को पूजा कैसे करना चाहिए
शुक्रवार को पूजा कैसे करना चाहिए

Shukrawar ke Upay: शुक्रवार को किस देवता की पूजा की जाती है? शुक्रवार के दिन कैसे पूजा करना चाहिए? शुक्रवार को पूजा करने से क्या होता है? ऐसे ही कई प्रकार के सवाल लोगों के मन में होते हैं। अपनी आर्थिक परेशानियों को दूर करने के लिए लोग यह भी जानना चाहते हैं कि सुबह उठकर क्या करना चाहिए जिससे घर में लक्ष्मी आए।

शुक्रवार को पूजा करने से क्या होता है?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी के साथ-साथ मां दुर्गा का भी दिन होता है। शुक्रवार का दिन प्यार और सुंदरता के देवता माने जाने वाले शुक्र देव को समर्पित होता है। शुक्रवार को महालक्ष्मी और शुक्र देव की पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि और धन वैभव के साथ-साथ जीवन में प्यार, आकर्षण और दांपत्य जीवन में सुख की प्राप्ति होती है।

शुक्रवार को पूजा कैसे करनी चाहिए?

शुक्रवार के दिन पूरे विधि-विधान के साथ मां भगवती लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने से जीवन में उन्नति का मार्ग खुलता है और जीवन के संकटों का नाश होता है। शुक्रवार को पूजा करने के लिए सबसे पहले मां लक्ष्मी की मूर्ति के सामने घी का दीपक जलाएं और उन्हें लाल रंग का गुलाब अर्पित करें। इस बात का ध्यान रखें कि पूजा के वक्त थाली में कुछ मीठा अवश्य रखें। मां को भोग लगाने के बाद प्रसाद को घर के सदस्यों के बीच बांट दें।

यह भी पढ़ें…

मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए क्या करें?

माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शुक्रवार के दिन विधि-विधान से उनकी पूजा करें। शुक्रवार के दिन व्रत रखकर विधि विधान से माता लक्ष्मी की पूजा करने से घर में आर्थिक परेशानियां खत्म होती है। ऐसा माना जाता है कि महालक्ष्मी जब अपने भक्तों से प्रसन्न हो जाती है तो उनके जीवन से समस्त दुखों का नाश कर देती हैं।

मां लक्ष्मी की पूजा के लिए शुक्रवार का दिन बेहद ही खास माना जाता है। शुक्रवार का व्रत रखना बहुत ही अच्छा माना जाता है। शुक्रवार के दिन सुबह जल्दी उठ जाएं और स्नान ध्यान करने के बाद क्रीम कलर के कपड़े पहने। उसके बाद श्री यंत्र की पूजा करें। मान्यता है कि शुक्रवार के दिन श्री सूक्त का पाठ करने से विशेष लाभ होता है।

मां लक्ष्मी के प्रिय चीजों का करें दान

शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए उनकी प्रिय चीजों को मंदिर में जाकर अर्पित करना चाहिए। कमल का फूल, कौड़ी, शंख तथा लाल या गुलाबी कपड़ा मंदिर में दान करना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति के जीवन से आर्थिक दिक्कतें खत्म होती है।

घर में साफ सफाई रखें

कहा जाता है कि जिस जगह पर साफ-सफाई होती है वहां पर मां लक्ष्मी का वास होता है। गंदे स्थान पर माता लक्ष्मी कभी नहीं रहती हैं। ऐसे में अपने कार्यस्थल और घर पर हमेशा साफ सफाई रखना चाहिए। शुक्रवार को पूजा करने से पहले और संभव हो तो प्रत्येक दिन घर की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना रखना चाहिए।

यह भी पढ़ें…

पूजा स्थल ईशान कोण में रखें

अपने घर में मां लक्ष्मी का वास स्थाई रूप से चाहते हैं तो पूजा स्थल को हमेशा ईशान कोण में रखें और पूर्व दिशा की ओर बैठकर महालक्ष्मी की पूजा करें। पूजा घर के नजदीक रसोईघर या फिर टॉयलेट नहीं होना चाहिए। एक ही जगह पर पूजा स्थल और रसोई घर होने से घर में कभी बरकत नहीं होती है।

मिश्री और खीर का भोग लगाएं

मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शुक्रवार के दिन मिश्री का भोग लगाना चाहिए। मां लक्ष्मी को मिश्री और खीर का भोग अत्यंत प्रिय है। मां लक्ष्मी के मंत्रों का जाप स्फटिक के माला या कमलगट्टे की माला से करना चाहिए। यह काफी प्रभावी माना जाता है। इस उपाय को करने से माता लक्ष्मी की कृपा भक्तों पर जल्द ही प्राप्त होती है।