केंद्र सरकार के प्रस्ताव को राकेश टिकैत ने ठुकराया, कहा- कानून वापसी नहीं तो घर वापसी नहीं

0
176
Rakesh Tikait rejected the Central Government's proposal

नई दिल्ली। तीनों कृषि कानूनों को लेकर धरने पर बैठे राकेश टिकैत ने नया नारा दिया है। राकेश टिकैत ने कहा कि कानून वापसी नहीं तो घर वापसी नहीं। राकेश टिकैत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 18 माह तक कृषि कानूनों को स्थगित करने के प्रस्ताव को भी ठुकरा दिया।

राकेश टिकैत ने कहा कि तीनों कानूनों की वापसी हो और एमएसपी की गारंटी मिले तभी किसान अठेंगे। उन्होंने कहा कि यह आंदोलन अक्टूबर तक भी खत्म नहीं होगा। आज शिवसेना नेता संजय राउत भी राकेश टिकैत से मिलने गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे थे।

राकेश टिकैत से मिलने के बाद संजय राउत ने कहा कि शिवसेना हमेशा किसानों के साथ है। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष राकेश टिकैत ने कहा कि अगर विपक्ष हमारा समर्थन करने के लिए आ रहा है तो कोई समस्या नहीं है, लेकिन इसका राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए।

बता दें कि दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर भारी संख्या में किसान एकत्रित होने लगे हैं। राकेश टिकैत के कैमरे के सामने रोने के बाद खत्म होता किसान आंदोलन एक बार फिर से शुरू हो गया था। इसी बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने 6 फरवरी को पूरे देश में चक्का जाम का ऐलान किया है।

पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर के चारों ओर बैरिकेडिंग कर दी है। पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर के चारों ओर बैरिकेडिंग कर दी है। इसी के साथ यहां पर सीमेंट के बैरिकेड बनाए गए हैं। इतना ही नहीं, सड़कों पर कीलें लगाई गई हैं। जिससे अगर कोई किसान ट्रैक्टर के जरिये आगे बढ़े तो उसके टायर फट जाएं या फिर पंचर हो जाएं।