केंद्र सरकार ने किया साफ, नहीं होगा LIC और रेलवे का निजीकरण

0
168
रेलवे एलआईसी की निजीकरण

केंद्र सरकार ने लोगों की आशंकाओं का समाधान करते हुए लोकसभा में कहा कि सरकार LIC (भारतीय जीवन बीमा निगम) और रेलवे का निजीकरण नहीं करेगी। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि सरकार जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के निजीकरण का कोई प्रयास नहीं कर रही है।

लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि एलआईसी के निजीकरण की अफवाहों पर ध्यान नहीं दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुनाफे वाली सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में सरकार का दख़ल रहेगा और इनके निजीकरण की सरकार की कोई मंशा नहीं है।

जावडेकर ने कहा कि भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) जैसी सरकारी उपक्रमों में सरकार का दख़ल कम नहीं होगा। सरकारी क्षेत्र के घाटे वाले उपक्रमों के पुनरुत्थान के लिए सरकार योजना बना रही है।

रेलवे का भी नहीं होगा निजीकरण

रेलवे का निजीकरण नहीं करने, रेल को आधुनिक बनाने, यात्रियों को बेहतर सुविधा देने तथा उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के सरकार के आश्वासन के साथ लोकसभा ने मंगलवार को ‘बजट 2021-22 में रेल मंत्रालय के अधीन अनुदान मांगों’ को पारित कर दिया।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सदन में कई सदस्यों ने रेलवे का निजीकरण किए जाने की बात कही है और इस पर गहरी चिंता भी जताई है लेकिन “मैं स्पष्ट कर दूं कि भारतीय रेल का निजीकरण नहीं होगा और रेल भारत सरकार की ही रहेगी।” उन्होंने सदस्यों को रेलवे का निजीकरण नहीं करने का भरोसा सदन में दिया लेकिन यह भी कहा कि अगर रेलवे में निजी निवेश आता है तो उसका स्वागत किया जाना चाहिए।

इसके साथ ही सड़क के बारे बोलते हुए उन्होंने तर्क दिया कि सड़कें भारत की संपत्ति है लेकिन क्या कोई कहता है कि सड़क पर सिर्फ सरकारी गाड़ियां ही चलनी चाहिए। उन्होंने सवाल किया कि क्या इसी तरह का प्रयास रेलवे लाइन पर नहीं होना चाहिए।

रेलवे में बड़ा सुधार – पीयूष गोयल

रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे में बड़ा सुधार किया जा रहा है जिसमें यात्रियों की सुरक्षा तथा उन्हें बेहतर सुविधा देने पर जोर दिया जा रहा है और इसके लिए सरकार ने रेलवे को भविष्य के वास्ते तैयार करने के लिए ‘राष्ट्रीय योजना 2030’ बनायी है। रेलवे को आधुनिक बनाया जा रहा है और इसके लिए रेलवे स्टेशनों पर सुविधाओं में सुधार लाया जा रहा है जिसके तहत एलईडी लाइट्स लगाने के साथ ही एस्केलेटर्स और लिफ्ट लगायी गयी है।

उन्होंने इस बात पर खुशी जतायी कि रेलवे में दुर्घटनाएं रुकी हैं और मार्च 2019 से अब तक रेल दुर्घटना में तक एक भी यात्री की मृत्यु नहीं हुई है। उनका कहना था कि रेल सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है और उसी का परिणाम है कि दो वर्ष में एक भी यात्री रेल दुर्घटना में हताहत नही हुआ है।