एक बार फिर आमने-सामने दिल्ली और केंद्र सरकार, साथ में कांग्रेस भी उतरी विरोध में

0
95
दिल्ली सरकार के कामकाज

नई दिल्ली। लोकसभा में केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार को लेकर गवर्नमेंट ऑफ नेशनल कैपिटल टैरिटरी ऑफ दिल्ली (संशोधित बिल) 2021 (GNCTD Bill) पेश किया है। इसको लेकर अब केजरीवाल सरकार के साथ-साथ कांग्रेस भी विरोध में आ गई है।

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी (ManishTewari) ने कहा कि इसके लागू होने के बाद दिल्ली में लोकतंत्र दब जाएगा। उन्होंने कहा कि अब उपराज्यपाल गृह मंत्रालय के जरिए दिल्ली पर आक्रामक तरीके से राज करेंगे। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इस बिल को असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक बताया है।

बता दें कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने सोमवार को लोक सभा में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र संशोधन विधेयक (National Capital Territory Amendment Bill) पेश किया था। इस बिल में दिल्ली सरकार के कैबिनेट द्वारा किए जाने वाले सभी कार्य से पहले उप राज्यपाल की सहमति लेना आवश्यक है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘भाजपा को दिल्ली के लोगों ने खारिज कर दिया है। पहले विधान सभा में सिर्फ आठ सीटें दीं, फिर हाल के नगर निगम उपचुनाव में एक भी सीट नहीं दी। इससे भाजपा अब लोकसभा में विधेयक के जरिए चुनी हुई सरकार की शक्तियों को काफी कम करना चाहती है। विधेयक संविधान पीठ के फैसले के विपरीत है। हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं।