कोरोना महामारी में पप्पू यादव बने संकटमोचक, बिहार के लोगों के लिए किसी फरिश्ता से कम नहीं

0
20
पप्पू यादव

संतोष कुमार, पटना। कोरोना महामारी के बीच बिहार में अफसर से लेकर राजनेता तक, पत्रकार से लेकर आम आदमी के बीच उम्मीद के एकमात्र किरण पप्पू यादव बने हुए हैं। पप्पू यादव राज्ये में कोरोना माहमारी के समय लोगों के लिए संकटमोचक की भूमिका निभा रहे हैं।

इस आपदा में जब लोग सड़कों पर निकलने से परहेज कर रहे हैं तो वहीं पप्पू यादव खुलेआम दिन-रात अस्पतालों में चक्कर लगा रहे हैं। वो लोगों की मदद कर रहे हैं। किसी को बेड दिला रहे हैं तो किसी को ऑक्सीजन सिलेंडर दिला रहे हैं। जिस किसी को रेमडेसीविर भी चाहिए तो वह पप्पू यादव से ही उम्मीद कर रहा है।

कोविड संक्रमण काल में पप्पू यादव की तरफ हेल्पलाइन की सुविधा भी लोगों के लिए दी गई है। ताकि अगर कोई मुसीबत में है तो वो कभी भी फोन कर सकता है और हर प्रकार की सुविधा वह फ्री में उपलब्ध करा रहे हैं। यह महज नारा नहीं है। स्लोगन नहीं है। हकीकत है। बिहार के लोगों के लिए इस कोरोना महामारी में जब सरकारी व्यवस्था पस्त है और विपक्ष मस्त है तो हर किसी को उम्मीद सिर्फ पप्पू यादव से है।

पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी ने एक स्लोगन ‘सेवादारी से हारेगा कोरोना!’ के साथ हेल्पलाइन नंबर लोगों को दिया है। इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके जरूरतमंद संकट की घड़ी में मदद ले सकते हैं।

कोरोना हेल्पलाइन नंबर

दीपक कुमार – 6209213920
मुन्ना जी – 9122162845
विनय जी – 7004091130

पप्पू यादव वर्तमान में ना तो सांसद हैं, ना विधायक हैं और ना ही मंत्री हैं, लेकिन काम वह सांसद वाला भी कर रहे हैं, विधायक वाला भी कर रहे हैं और मंत्री की भी भूमिका निभा रहे हैं।

पप्पू यादव के इस नि:स्वार्थ सेवा से लगता है कि काश! बिहार के लोगों ने पप्पू यादव जैसे पांच जनप्रतिनिधि को चुना होता तो यह दिन ना देखने पड़ते जो आज बिहार के लोगों को देखने पड़ रहे हैं।

बता दें कि देश में कोरोना के रोजाना 3 लाख से ज्यादा केस आ रहे हैं और 2 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा रही है। देश में कमोवेश हर राज्य में स्थिति एक जैसी ही है। फिलहाल देश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 1,76,36,307 है। मौत का आंकड़ा करीब 2,00,000 के करीब पहुंच गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार को देश में लगभग 2.9 मिलियन सक्रिय मामले हैं।

कोविड-19 के ताजे आंकड़े

देश में कुल कोरोना केस: 1,76,36,307
कोरोना से ठीक हुए मरीज: 1,45,56,209
मृतकों का आंकड़ा: 1,97,894
देश में कुल एक्टिव केस: 28,82,204

वहीं अगर बिहार की बात करें तो यहां पर भी सक्रिय मामलों की संख्या 1 लाख को पार कर गई है। बिहार में पिछले साल कोरोना का पहला मरीज 22 मार्च को मिला था। 16 अगस्त 2020 तक बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 लाख 4 हजार 93 हो चुकी थी।

16 अगस्त 2020 को राज्य में 2187 नए संक्रमितों की एक दिन में पहचान की गई थी। जबकि 25 अप्रैल 2021 को राज्य में 12,745 नए संक्रमित मिले। इसके पूर्व 15 अगस्त, 2020 को राज्य में 3536 नए कोरोना संक्रमित मिले थे जबकि 24 अप्रैल 2021 को राज्य में 12,359 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 27 अप्रैल को जारी आंकड़ों के मुताबिक, बिहार में कुल एक्टिव केस 89 हजार 661 हो चुके हैं। इसमें पिछले 24 घंटों में 2506 की बढ़ोतरी हुई है। राज्य में अबतक कुल 3 लाख 23 हजार 514 लोग कोरोना से मुक्त हो चुके हैं। सोमवार को 9 हजार 228 मरीज कोरोना से ठीक हुए और 67 मरीज की मौत हो गई।