बंगाल में गरजे अमित शाह, जो लोग छिपे बैठे हैं, उन्हें बीजेपी सरकार बनने पर सजा जरूर मिलेगी

0
41
पश्चिम बंगाल में अमित शाह

गृहमंत्री अमित शाह दो दिन के दौरे पर बंगाल के साउथ 24 परगना जिले में सभा की। उन्होंने इस दौरान लोगों से कहा कि हम बंगाल में परिवर्तन के लिए आए हैं। उन्होंने सीएम ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकने और भाजपा को राज्य में मौका देने की अपील जनता से की।

अमित शाह ने ममता सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य में तृणमूल कांग्रेस का सिंडिकेट काम कर रहा है। यह सिंडिकेट आम लोगों तक केंद्र सरकार की ओर से भेजी जाने वाली मदद नहीं पहुंचने देता। उन्होंने कहा कि असल लड़ाई भाजपा के बूथ वर्कर्स और टीएमसी के सिंडिकेट के बीच है।

रैली में अमित शाह ने कहा कि मैं आज तीर्थों के तीर्थ गंगासागर आया हूं। ये मेरे लिए बहुत सौभाग्य का दिन है। मैं पश्चिमी छोर में पैदा हुआ, जहां गंगा गिरती हैं, वहां आप लोगों को संबोधित कर रहा हूं। आज ही रामकृष्ण परमहंस और चैतन्य महाप्रभु का जन्मदिन है। एक ने अध्यात्म तो दूसरे ने भक्ति के क्षेत्र में भारत का नाम दुनिया में रोशन किया है।

उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘परिवर्तन यात्रा बंगाल के हर विधानसभा क्षेत्र में जाने वाली है। ममता सरकार को उखाड़ फेंकना है। हर विधानसभा क्षेत्र में बड़ी रैली होने वाली है। 1500 से ज्यादा सभाएं होनी हैं। तृणमूल का सिंडिकेंट हमारे द्वारा दिया फायदा आप तक पहुंचने नहीं देता। आपको मिलने वाली सीमेंट को महंगा कर देते हैं। जोर से बोलिए, इन्हें बदलेंगे कि नहीं।’

गृहमंत्री ने कहा कि बंगाल में हमारे कई कार्यकर्ता मारे गए। ममता दीदी, तृणमूल ने हमारे 130 कार्यकर्ताओं को मार डाला। उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। जो छिपकर बैठे हैं, भाजपा की सरकार बनी तो सबको बाहर निकालकर सजा देंगे।

बता दें कि अमित शाह का यह दूसरा दौरा है। इससे पहले उन्होंने 11 फरवरी को भी पश्चिम बंगाल का दौरा किया था। तब उन्होंने कहा था कि कोरोना वैक्सीनेशन पूरा होने के बाद बीजेपी नागरिकता संशोधन कानून लागू करेगी।