उन्नाव केस : छावनी में तब्दील हुआ गांव, आईजी ने बनाई टीम

0
214
उन्नाव जिले की घटना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की घटना से राज्य को एक बार फिर से शर्मसार कर दिया है। उन्नाव जिले के बबुरहा गांव में तीन नाबालिग लड़कियां खेत में दुपट्टे से बंधी मिली थी। उनमें से दो की मौत हो गई है। एक लड़की जिंदगी और मौत से जंग लड़ रही है।

इस घटना के बाद जिले के बबुरहा गांव को पूरी तरह से छावनी में बदल दिया गया है। उन्नाव जिले के नौ थानों की पुलिस फोर्स को गांव में लगाया गया है। दोनों नाबालिग लड़कियों के शवों का फोस्टमार्टम 4 डॉक्टरों का पैनल करेंगे। खबरों के मुताबिक, संदिग्ध हालत में दो किशोरियों की मौत के बाद पुलिस सकते में आई और 4 लड़कों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

इसी बीच गांव वाले धरने पर बैठ गए हैं। गांव वालों का कहना है कि पुलिस लड़कियों के परिवारवालों को परेशान ना करें। उन्नाव के एसपी के मुताबिक, शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं मिला है। मामले की जांच के लिए 6 टीमें गठित की गई हैं।

उधर खबर है कि पीड़ित परिवार को नजरबंद कर दिया गया है। परिवारवालों को किसी से बात करने की अनुमति नहीं है। बताया जा रहा है कि तीनों किशोरियाँ चारा लेने गई थीं। तीनों खेत में दुपट्टे से बंधी पड़ी मिलीं थी।

मामले में उन्नाव एसपी का कहना है कि तीनों लड़कियाँ बेहोशी की हालत में मिली थीं। तीनों को अस्पताल पहुंचाया गया तो दो की मौत हो चुकी थी। प्रथम दृष्टि में पता चला है कि तीनों घास काटने गई थीं। मौके पर झाग मिला है। जहरीला पदार्थ से हालत बिगड़ने की आशंका है। डॉक्टर ने भी यही आशंका जताई है।