तालिबान ने दिया अमेरिका को धमकी, कहा- हक्कानी नेटवर्क को ब्लैकलिस्ट करना ठीक नहीं

0
21
अमेरिका को तालिबानी धमकी

तालिबानी सरकार में शामिल हक्कानी नेटवर्क के आतंकियों को ब्लैकलिस्ट करने पर तालिबान ने अमेरिका को धमकी दी है। तालिबान ने कहा है कि हक्कानी नेटवर्क के कुछ सदस्य जो हमारी सरकार में शामिल हैं, उन्हें अमेरिका के अधिकारी टारगेट पर होने की बात कह रहे हैं। ऐसे बयान देकर वे दोहा समझौते का उल्लंघन कर रहे हैं यह किसी के हित में नहीं है।

तालिबान ने कहा है कि हक्कानी साहब के परिवार के लोग ही इस्लामिक अमीरात की सरकार में शामिल हैं, ये कोई अलग नाम या संगठन नहीं है।

महिलाओं पर प्रतिबंध का खेल शुरू

दूसरी तरफ तालिबान ने अब धीरे-धीरे महिलाओं पर प्रतिबंध लगाना शुरू कर दिया है। अंतरिम सरकार बनाने के बाद तालिबानियों ने शरिया कानून के तहत महिलाओं को किसी भी खेल में हिस्सा लेने पर प्रतिबंध लगा दिया है। तालिबान के संस्कृति आयोग ने गुरुवार को कहा कि महिलाएं क्रिकेट समेत उन सभी खेलों में शामिल नहीं हो सकतीं जिसमें उनका चेहरा या शरीर का कोई भाग दिखता हो।

तालिबान के सांस्कृतिक आयोग के उप प्रमुख अहमदुल्ला वासिक ने कहा, ‘महिलाओं को क्रिकेट समेत उन तमाम खेलों में शामिल नहीं होना चाहिए जिसमें उन्हें ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है जहां उनका चेहरा और शरीर ढका नहीं होगा। इस्लाम महिलाओं को इस तरह देखने की इजाजत नहीं देता है।’

पंजशीर पर तालिबान के कब्जे का दावा खारिज

तालिबान भले ही पंजशीर घाटी को जीतने का दावा कर रहा हो लेकिन अहमद मसूद की अगुवाई वाली रेजिस्टेंस फोर्स ने दावा किया है कि पंजशील का 60 फीसदी इलाका अभी भी उनके पास है। उन्होंने कहा कि जंग में तालिबान को भारी नुकसान हुआ है। सीएनएन न्यूज में इस बात की जानकारी दी गई है।