सीमावर्ती इलाकों में शांति स्थापना ही चीन के साथ बेहतर संबंध का आधार – विदेश मंत्री जयशंकर

0
215
विदेश मंत्री जयशंकर

नई दिल्ली। विदेश मंत्री एस जयशंकर (S. Jaishankar) ने चीन के साथ सीमा विवाद पर कहा कि पूर्वी लद्दाख में 2020 में हुई घटनाओं ने दोनों देशों के संबंधों को प्रभावित किया है। उन्होंने कहा कि संबंधों को तभी आगे बढ़ाया जा सकता है जब सीमावर्ती इलाकों में शांति स्थापना हो।

विदेश मंत्री ने कहा कि भारत और चीन के संबंध दोराहे पर हैं और इस समय चुने गए विकल्पों का न केवल दोनों देशों बल्कि पूरी दुनिया पर प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में हुई घटनाओं ने हमारे संबंधों पर वास्तव में अप्रत्याशित दबाव बढ़ा दिया है।

विदेश मंत्री ने कहा कि सीमावर्ती इलाकों में शांति स्थापना चीन के साथ संबंधों के सम्पूर्ण विकास का आधार है और अगर इसमें कोई व्यवधान आयेगा तो नि:संदेह बाकी संबंधों पर इसका असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि हमारे सामने यह मुद्दा है कि चीन का रुख क्या संकेत देना चाहता है। सीमा पर स्थिति की अनदेखी कर जीवन सामान्य रूप से चलते रहने की उम्मीद करना वास्तविकता नहीं है।

बता दें कि पूर्वी लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच कई महीनों से लगातार गतिरोध बना हुआ है। सीमा विवाद को हल करने के लिए सैन्य स्तर पर 11 बार बैठक हो चुकी है, लेकिन कोई रास्ता नहीं निकल पाया है। भारत के रक्षा मंत्री ने पिछले दिनों कहा था कि जब तक चीन सीमा पर अपने सैनिकों को कम करने की प्रक्रिया शुरू नहीं करता, भारत अपने सैनिकों को वापस नहीं बुलाएगा।