खत्म होगी टीके की किल्लत – अब भारत बायोटेक के अलावा दूसरी कंपनियां भी बनाएगी कोवैक्सीन

0
23
कोवैक्सीन का उत्पादन

नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीन का भारत में उत्पादन बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार ने अहम कदम उठाया है। कोवैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक के साथ टेक्नोलॉजी ट्रांसफर व्यवस्था के तहत हैफकाइन बायोफार्मा कोवैक्सीन की खुराक का उत्पादन करेगी। कंपनी 22.8 करोड़ खुराक का उत्पादन करेगी।

भारत में सभी पात्र आबादी को जल्द से जल्द टीका लगाने के लिए केंद्र सरकार की मदद से देश में घरेलू टीकों का उत्पादन लगातार तेज किया जा रहा है।

हैफकाइन बायोफर्मास्यूटिकल कॉर्पोरेशन लिमिटेड, मुंबई, इंडियन इम्यूनोलॉजिकल लिमिटेड, हैदराबाद और भारत इम्यूनोलॉजिकल एंड बायोलॉजिकल लिमिटेड, बुलंदशहर, उ.प्र ये सभी कंपनियाँ टेक्नोलॉजी ट्रांसफर के तहत कोवैक्सीन का निर्माण करेगी।

युद्ध स्तर पर हो रही है तैयारी

कंपनी की तरफ से कहा गया है कि वैक्सीन डोज के प्रोडक्शन के लिए आठ महीने का समय दिया गया है इसलिए काम को युद्ध स्तर पर अंजाम दिया जा रहा है।

डॉक्टर से आइएएस बने राठौड़ ने बताया कि वैक्सीन उत्पादन प्रक्रिया में दो चरण शामिल हैं- पहला दवा का पदार्थ बनाना और अंतिम दवा का प्रोडक्शन. दवा का पदार्थ बनाने के लिए हमें बायो सेफ्टी लेवल 3 (BSL 3) सुविधा बनाने की जरूरत है, जबकि हैफकाइन में पहले से ही फिल फिनिश की सुविधा उपलब्ध है।