शुभेंदु अधिकारी को बैठक में बुलाने से भड़कीं ममता, पीएम और राज्यपाल को कराया 30 मिनट इंतजार

0
22
ममता और केंद्र सरकार

नई दिल्ली। विधानसभा चुनाव के वक्त शुरू हुई केंद्र और ममता बनर्जी की तनातनी अभी तक खत्म नहीं हुई है। शुक्रवार को यास तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल पहुंचे। पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की रिव्यू मीटिंग में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समय से नहीं पहुंची।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ममता बनर्जी मीटिंग में शुभेंदु अधिकारी को बुलाए जाने से नाराज थीं। बता दें कि हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम सीट से लड़ीं ममता शुभेंदु से हार गई थीं। हार के बाद ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर भड़की थीं।

रिव्यू मीटिंग को लेकर ममता बनर्जी ने कहा कि यदि शुभेंदु अधिकारी बैठक में शामिल हो रहे हैं तो उनका जाना मुश्किल है। सूत्रों के अनुसार, ममता और चीफ सेक्रेटरी एक ही परिसर में होने के बावजूद बैठक के लिए 30 मिनट की देरी से पहुंचे।

इस दौरान ममता ने PM मोदी से मुलाकात कर तूफान से हुए नुकसान की प्राइमरी रिपोर्ट सौंपी। दोनों नेताओं के बीच करीब 15 मिनट बात हुई। बाद में ममता ने कहा कि PM ने मीटिंग बुलाई थी। हमें नहीं पता था कि दीघा में मेरी मुलाकात थी। मैं कलाईकुंडा गई और प्रधानमंत्री को रिपोर्ट दी।

ममता बनर्जी ने कहा कि दीघा और सुंदरबन के विकास के लिए 10 और 20 हजार करोड़ रुपए की मांग की। मैंने उनसे कहा कि राज्य के अधिकारी मुझसे मिलना चाहते हैं। मैंने उनकी अनुमति ली और चली आई।

बता दें कि केंद्र सरकार ने तूफान से प्रभावित उड़ीसा और बंगाल-झारखंड के लिए 1 हजार करोड़ रुपए के राहत पैकेज का ऐलान किया है। इनमें से 500 करोड़ उड़ीसा और 500 बंगाल-झारखंड को दिए जाएंगे।