कोरोना संकट – वकीलों ने लिखा सीएम केजरीवाल को चिट्ठी, कहा- उनके लिए हो बेड रिजर्व

0
21
वकीलों के लिए कोरोना बेड रिजर्व

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) से लगातार बिगड़ते हालात के बीच देश की राष्ट्रीय राजधानी में वकीलों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चिट्ठी लिखी है। वकीलों ने सीएम से जजों, वकीलों और कोर्ट स्टाफ के लिए हॉस्पिटल में बेड रिजर्व करने की मांग की है।

वकीलों का कहना है कि उन्हें दिल्ली के अस्पतालों में बेड ढूंढने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में द्वारका कोर्ट बार एसोसिएशन ने सीएम केजरीवाल को लिखे पत्र में कहा है कि जजों, कोर्ट स्टाफ और उनके परिवार के लोगों को हॉस्पिटल में एडमिट होने में बहुत सी दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं, ऐसे में सरकार उनके लिए बेड रिजर्व करे।

बार एसोसिएशन का कहना है कि कई वकील, जज, कोर्ट स्टाफ और उनके परिवार वाले कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। द्वारका सब-सिटी के आसपास कोई सरकारी हॉस्पिटल भी नहीं है और यहां की जनसंख्या 12 लाख से ज्यादा है।

बार एसोसिएशन के अध्यक्ष वाईपी सिंह ने सुझाव दिया है कि हाल ही बने इंदिरा गांधी गवर्नमेंट हॉस्पिटल में 17 हजार बेड हैं. उसे जनता के लिए खोल दिया जाना चाहिए और कोर्ट स्टाफ के लिए उसमें बेड रिजर्व किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि वकीलों के लिए कम से कम 500 बेड रिजर्व किए जाने चाहिए।

बता दें कि पिछले हफ्ते ही दिल्ली के अशोक होटल को कोविड केयर सेंटर में बदल दिया गया था और सभी कमरे दिल्ली हाईकोर्ट के जजों, न्यायिक अधिकारियों और उनके परिजनों के लिए रिजर्व कर दिया गया था। जिसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने केजरीवाल सरकार को फटकार लगाई थी।