गोरखपुर वासियों को सीएम योगी ने दी 60 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात, उतरेंगे सी-प्लेन

0
35
परियोजनाओं की सौगात

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को राप्ती के तट पर तीन भव्य घाटों का लोकार्पण किया। यहां पर उन्होंने करीब 60 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद वहां मौजूद लोगों को संबोधित किया।

सीएम योगी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि गोरखपुर पर्यटन का प्रमुख केंद्र बनकर उभर रहा है। प्रदेश की पहली अधिसूचित रामगढ़ झील में सी-प्लेन उतरेंगे। कहीं से पर्यटक आएंगे तो रामगढ़ झील, चिड़ियाघर और राप्ती तट का रुख करेंगे और प्रकृति के मनोरम दृश्यों से रूबरू होंगे।

उन्होंने कहा कि इससे गोरखपुर और उत्तर प्रदेश में रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। मुख्यमंत्री योगी ने स्टीमर से राप्ती नदी को पार कर रामघाट के सुंदरीकरण का निरीक्षण भी किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राजघाट पर जहां पहले अपनों का अंतिम संस्कार करने आने वालों को दिक्कतें होती थीं। किसी भी पर्व पर स्नान करने पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को काफी परेशानियां झेलनी पड़ रही थीं। आज यह स्थल भव्य रूप ले चुका है। राप्ती का पूर्वी तट गुरु गोरक्षनाथ घाट, पश्चिमी तट रामघाट के रूप में विकसित हो चुका है।

उन्होंने कहा कि इन दोनों घाटों के उत्तर में शवदाह स्थल (राजघाट) अब उसे बाबा मुक्तेश्वरनाथ घाट के नाम से जाना जाएगा। नगर निगम की ओर से बनाए गए प्रदूषण मुक्त लकड़ी व गैस आधारित शवदाह संयंत्र का भी उन्होंने लोकार्पण किया। सीएम ने कहा कि यहां संस्थाएं आगे आएंगी और प्रतिदिन शाम को काशी नगरी में होने वाली गंगा आरती की तरह राप्ती आरती होगी।

भगवान शंकर की 30 फीट ऊंची प्रतिमा भी लगेगी

गुरु गोरक्षनाथ घाट पर भगवान शंकर की भव्य प्रतिमा भी स्थापित की जाएगी। महादेव की यह प्रतिमा 30 फीट ऊंची होगी। प्रतिमा के शीर्ष भाग से जल धारा प्रवाहित होकर भगवान की जटा से गंगा अवतरण का आभास कराएगी।