भाजपा सांसद की बहू ने काटी हाथ, अस्पताल में भर्ती, लगाए गंभीर आरोप

0
34
भाजपा सांसद की बहु

लखनऊ के मोहनलालगंज से बीजेपी सांसद कौशल किशोर के घर का कलह अब और ज्यादा उजागर होने लगा है। यह कलह शांत होने का नाम ही नहीं ले रहा है। अब आयुष की पत्नी व सांसद की बहू अंकिता ने उनके घर के बाहर पहुंचकर अपनी हाथ की नस काट कर खुदकुशी करने की कोशिश की। आनन-फानन में उसे सिविल अस्‍पताल में भर्ती कराया गया।

नस काटने से कुछ घंटे पहले अंकिता का एक वीडियो भी सामने आया था। वीडियो में वो रोते हुए नजर आ रही थी। वीडियो में अंकिता सांसद के पुत्र आयुष पर गंभीर आरोप लगाकर जान देने की बात कह रही थी। अंकिता ने यह भी कहा कि आयुष ने उसके साथ धोखा किया है।

अंकिता ने अपने वीडियो में कहा, ‘मैं किसी से नहीं लड़ सकती क्योंकि तुम्हारे पापा सांसद और मां विधायक हैं, मेरी कोई नहीं सुनेगा, मैं आज तक किसी को तुम्हें हाथ नहीं लगाने दिया, तो मैं तुम्हें कैसे मार सकती हूं, तुम कितना झूठ बोल रहे हो, तुमने और तुम्हारे घर वालों ने मुझे जीने के लिए नहीं छोड़ा।’

अंकिता ने आगे कहा कि घर का किराया नहीं दिया, गैस सिलेंडर नहीं भरवाया, एक बार भी नहीं सोचा कि मैं क्या खाऊंगी। अगर तुम मेरे पास नहीं आओगे तो मुझे रहना भी नहीं हैं। मैं जा रही हूं। मैं जा रही हूं और तुम मुझे याद रखोगे और सोचोगे कि मुझसे ज्यादा चाहने वाला तुम्हें कोई और नहीं मिलेगा। मेरी मरने की वजह तुम हो और तुम्हारे घर वाले हैं, मैं जा रही हूं।

बता दें कि इससे पहले आयुष ने एक वीडियो जारी कर अपनी पत्नी अंकिता पर गंभीर आरोप लगाए थे। उसने वीडियो में सफाई देते हुए बताया कि उसे पत्नी अंकिता सिंह ने फंसाया है। उसने कहा कि वह सरेंडर कर देगा। उसने कोई गलत काम नहीं किया है। उसने खुद पर गोली नहीं चलवाई। अगर वो उस दिन घर में होता तो उसकी हत्या कर दी जाती।

थाने पहुंचा आयुष, खुद को बताया बेकसूर

आयुष किशोर रविवार को खुद मड़ि‍यांव थाने पहुंचा और बयान दर्ज कराया। आयुष ने अपने बयान में कहा कि उसे असलहा उसके दोस्त चंदन गुप्ता ने दिया था। आयुष ने खुद को बेकसूर बताते हुए आदर्श व उसकी बहन पर साजिश रचने का आरोप भी लगाया।

इस संबंध में इंस्पेक्टर मड़ियांव मनोज सिंह के मुताबिक, रविवार को करीब ढ़ाई घंटे तक आयुष से पूछताछ की गई। आयुष को सोमवार को दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया गया है। बता दें, सांसद के बेटे पर खुद पर फायरिंग कराकर साजिश करने व धोखाधड़ी की एफआइआर दर्ज है।