म्यांमार में प्रदर्शनकारियों पर फिर से बल प्रयोग, दागे गए आंसू गैस के गोले

0
28
म्यांमार सैन्य तख्तापलट

म्यांमार में एक बार फिर से शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर बल प्रयोग किया गया और उन पर आंसू गैस के गोले दागे गए। इससे एक दिन पहले संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत ने सुरक्षा परिषद से शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे लोगों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया था।

देश के सबसे बड़े शहर यंगून में शनिवार को प्रदर्शन शुरू हुए। जहां पर प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए स्टन ग्रेनेड्स और आंसू गैस के गोलों का प्रयोग किया गया।

यंगून के अलावा मिटकाइना, उत्तरी राज्य काचिन की राजधानी मिएक में प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर आंसू गैस के गोले दागे गए। इसके अलावा काएकटो, मोन, लोइकाओ, मिनज्ञान में भी प्रदर्शन किए गए। इससे पहले बुधवार को यंगून में हुए प्रदर्शनों में 18 प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई थी।

म्यांमार में 1 फरवरी को सैन्य तख्तापलट होने के बाद से प्रदर्शनकारियों पर बढ़ती हिंसा ने वैश्विक समुदाय पर इसके खिलाफ कार्रवाई करने का दबाव बनाया है।

उल्लेखनीय हैं कि म्यांमार में सैन्य तख्तापलट होने के बाद से नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेटिक पार्टी की शीर्ष नेता आंग सान सूकी और अन्य नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है। लोग इसके विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं और सूकी को रिहा करने का मांग कर रहे हैं।