यूपी में 21 से मिलेगी और छूट, 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे रेस्टोरेंट और मॉल

0
22
योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट के मंत्र से कोरोना की रफ्तार न के बराबर हो गई है। प्रदेश में कोरोना महामारी की स्थिति हर दिन के साथ और नियंत्रित होती जा रही है। वायरस अब कमज़ोर पड़ चुका है, लेकिन संक्रमण का खतरा अब भी बना हुआ है।

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने मंगलवार को बताया कि कोविड संक्रमण की बेहतर होती स्थितियों को देखते हुए 21 जून से कोरोना कर्फ्यू में और छूट दी जाएगी। रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू रात्रि 09 बजे से अगले दिन प्रातः 07 बजे तक प्रभावी होगा।

कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन के साथ रेस्टोरेंट व मॉल को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोला जायेगा। पार्क, स्ट्रीट फूड आदि के संचालन की अनुमति भी दी जाएगी। इन स्थलों पर कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना अनिवार्य होगी। मुख्यमंत्री ने कहा है कि नई व्यवस्था के संबंध में विस्तृत गाइडलाइंस समय से जारी कर दी जाए।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के साथ मंगलवार को 9 टीम के साथ हुई बैठक में बताया गया कि आने वाले कुछ माह बच्चों के स्वास्थ्य के दृष्टिगत संवेदनशील है। बरसात का मौसम शुरू हो रहा है। संचारी रोग, डेंगू, इंसेफेलाइटिस, चिकनगुनिया आदि की समस्या बढ़ने की आशंका है। विशेषज्ञों ने कोविड की तीसरी लहर की आशंका भी जताई है। ऐसे में बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए सभी जरूरी प्रबंध किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने बच्चों के लिए उपयोगी पल्स ऑक्सीमीटर की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी ने कहा है कि सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से लाभार्थियों से संपर्क कर बच्चों की सेहत की जानकारी ली जाए तथा बच्चों के लिए घर-घर मेडिकल किट वितरण का विशेष अभियान सुचारू रूप से संचालित किया जाए।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पहले 50 लाख से अधिक बच्चों को निःशुल्क दवाई किट वितरित की जाएगी। 18 वर्ष से कम आयु के कोविड-19 के लक्षण युक्त बच्चों को चार वर्गों (0-1 वर्ष, 1-5 वर्ष, 5-12 वर्ष तथा 12-18 वर्ष) में विभाजित किया गया है। प्रत्येक वर्ग के लिए अलग-अलग प्रकार की दवाई किट तैयार की गई है। अगस्त की समाप्ति तक 10 करोड़ लोगों को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य है।