रिंकू शर्मा को इंसाफ दिलाने की मुहिम हुई तेज, जिहादी राम मंदिर से संबंधित आयोजन से था नाराज

0
227
रिंकू शर्मा
रिंकू शर्मा

नई दिल्ली। रिंकू शर्मा की हत्या को लेकर आरोप और प्रत्यारोप का दौर जारी है। इस हत्याकांड को कई तरह की चर्चाएं हो रही हैं। हालांकि दिल्ली पुलिस ने इस तरह की सभी दलीलों को खारिज कर दिया है और जांच की बात कह रही है।

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार, मृतक के छोटे भाई मन्नू शर्मा का कहना है कि आरोपी के साथ हमारी पिछले एक साल से विवाद था। अगस्त में हमने राम मंदिर के लिए एक छोटा सा आयोजन किया था। इससे वे नाराज थे। लेकिन हमने उन्हें नजरअंदाज कर दिया। रिंकू ने आरोपी परिवार की एक गर्भवती महिला को खून भी दिया था।

हालांकि मामले में पुलिस का कहना है कि दानिश और रिंकू का विवाद एक जन्मदिन की पार्टी में हुई थी। जिसके बाद लगभग 11 बजे रिंकू की हत्या कर दी गई। पार्टी में दोनों को आमंत्रित किया गया था।

पुलिस के अनुसार, पार्टी के बाद जब रिंकू अपने दोस्त के साथ अपने घर के लिए निकल गया, तभी दानिश ने उन्हें रोक लिया। इसके बाद फिर से उनमें बहस हो गई और रिंकू ने दानिश को थप्पड़ मार दिया। दानिश, जो अपने तीन दोस्तों के साथ था, उसने रिंकू को पकड़ लिया और उसे चाकू मार दिया।

दिल्ली पुलिस ने रिंकू शर्मा की हत्या में शामिल चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि हत्या को बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में बुधवार रात को अंजाम दिया गया। रिंकू शर्मा को इंसाफ दिलाने के लिए ट्विटर पर मुहिम तेज कर दी गई है। यह मुहिम #JusticeForRinkuSharma नाम से चल रहा है।