चुनाव में भूले कोरोना की गाइड लाइन, नेताओं ने रैली और सभाओं में उड़ाई नियमों की धज्जियां

0
47

एमपी (MP) में जिन 28 सीटों पर उप चुनाव (By Election) हो रहे हैं, वहां आचार संहिता का उल्लंघन और कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन नहीं हो रहा है. अब तक ऐसे 124 मामलों में 2087 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए गए हैं. सबसे ज्यादा 22 केस मेहगांव में दर्ज किए गए. सबसे ज्यादा 1300 लोगों के खिलाफ ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र में कार्रवाई की गई.

-भांडेर में ज्यादा भीड़ जुटाने पर कमलनाथ और प्रत्याशी फूल सिंह बरैया पर केस
-भाजपा प्रत्याशी रक्षा सिरोनिया पर भी केस दर्ज.
-ग्वालियर में प्रद्युम्न सिंह तोमर, मुन्नालाल गोयल, कांग्रेस प्रत्याशी सुनील शर्मा, सतीश सिकरवार के खिलाफ केस दर्ज.
-नेपानगर में अर्चना चिटनिस पर केस दर्ज किया गया.
-सांवेर में प्रेमचंद गुड्डू, जीतू पटवारी, विधायक रमेश मेंदोला पर केस दर्ज.

-अनूपपुर से बीजेपी प्रत्याशी बिसाहूलाल सिंह पर केस दर्ज.

एक-दूसरे पर आरोप
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता दुर्गेश शर्मा ने कहा यदि सरकार नहीं गिराई जाती तो आज हम गद्दारों से नहीं बल्कि कोरोना से लड़ रहे होते. लेकिन बीजेपी ने खरीद-फरोख्त कर सरकार बना ली और सबसे पहले इनके नेताओं ने ही ग्वालियर चंबल संभाग में सभा और रैली करके नियम कायदों को तोड़ा है. प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता राकेश शर्मा ने कहा नियम सबसे पहले कांग्रेस नेताओं ने तोड़े. बीजेपी ने सबसे पहले वर्चुअल रैली की थी, जबकि कांग्रेस ने नियमों की धज्जियां उड़ाई थीं.